37.1 C
New Delhi

एचडीएफसी बैंक ने 7 जून से प्रभावी सभी कार्यकालों में एमसीएलआर में 35 बीपीएस की बढ़ोतरी की

Must Read

[ad_1]

देश के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के ऋणदाता, एचडीएफसी बैंक ने, 7 जून से प्रभावी, सभी अवधियों में फंड आधारित उधार दर (एमसीएलआर) की अपनी सीमांत लागत में 35 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है। एचडीएफसी बैंक ने मौद्रिक नीति समिति के बाद से अपने एमसीएलआर में 60 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है। एमपीसी) ने मई की शुरुआत में बेंचमार्क नीति दर में 40 आधार अंकों की बढ़ोतरी की। एमपीसी द्वारा एक ऑफ-साइकिल बैठक में रेपो दर में बढ़ोतरी के तुरंत बाद इसने एमसीएलआर में 25 आधार अंकों की बढ़ोतरी की थी।

एचडीएफसी बैंक द्वारा एमसीएलआर में यह 35 आधार अंकों की बढ़ोतरी एमपीसी की निर्धारित बैठक से एक दिन पहले आती है जहां 6 सदस्यीय समिति के फिर से दरें बढ़ाने की संभावना है। बिजनेस स्टैंडर्ड द्वारा किए गए अर्थशास्त्रियों के एक सर्वेक्षण से उम्मीद है कि एमपीसी रेपो दर में फिर से 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी करेगी। सर्वेक्षण में शामिल 10 अर्थशास्त्रियों में से छह ने 50 आधार अंक (बीपीएस) की वृद्धि की उम्मीद की, जबकि शेष ने कहा कि यह 35-40 बीपीएस के बीच हो सकता है।

एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, ओवरनाइट एमसीएलआर 7.50 फीसदी है। एक महीने और तीन महीने की एमसीएलआर क्रमशः 7.55 प्रतिशत और 7.60 प्रतिशत है; छह महीने का एमसीएलआर 7.70 फीसदी है; एक साल का एमसीएलआर, दो साल का एमसीएलआर और तीन साल का एमसीएलआर 7.85 फीसदी, 7.95 फीसदी और 8.05 फीसदी है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के आंकड़ों से पता चलता है कि दिसंबर 2021 तक, बैंकिंग प्रणाली के 39 प्रतिशत से अधिक ऋण बाहरी बेंचमार्क से जुड़े हुए हैं। लगभग 58.2 प्रतिशत होम लोन बाहरी बेंचमार्क से जुड़े हैं। वहीं, बैंकिंग सिस्टम के 53 फीसदी कर्ज एमसीएलआर से जुड़े हैं।

पिछले हफ्ते, एचडीएफसी लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ इंडिया सहित कई अन्य ऋणदाताओं ने भी अपने एमसीएलआर में बढ़ोतरी की।

एचडीएफसी ने 1 जून से अपने होम लोन पर ब्याज दरों में 5 आधार अंकों की बढ़ोतरी की थी। उसने पिछले महीने रेपो दर में बढ़ोतरी के बाद दरों में 30 आधार अंकों की बढ़ोतरी की थी। देश के दूसरे सबसे बड़े निजी क्षेत्र के बैंक, आईसीआईसीआई बैंक ने 1 जून से अपने एमसीएलआर में 30 आधार अंकों की वृद्धि की है। पंजाब नेशनल बैंक ने भी अपने एमसीएलआर में 15 आधार अंकों की वृद्धि की है, जो 1 जून से प्रभावी है। बैंक ऑफ इंडिया ने भी कुछ अवधि के लिए अपने एमसीएलआर में वृद्धि की, 1 जून से प्रभावी

[ad_2]

Source link

More Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Article